स्कूल में कंप्यूटर शेयरिंग से मिले बेहतर नतीजे


Photo: David Ulfers | Flickr

Photo: David Ulfers | Flickr

सीखने के मामले में, एक ताज़ा अध्ययन के अनुसार स्कूल में टैबलेट कंप्यूटर पर छोटे-छोटे समूहों में काम करना अकेले टैबलेट पर या बिना टैबलेट के काम करने से ज़्यादा उपयोगी होता है। यूएस के कुछ स्कूल किंडरगार्टन कक्षाओं में टैबलेट कंप्यूटर प्रयोग कर रहे हैं, उनके प्रेक्षण से यह शोध उपजा है। इस अध्ययन के समय एक स्कूल में सब बच्चों के पास स्वयं का टैबलेट था, दूसरे स्कूल में बच्चों को समूहों में टैबलेट शेयर करना था और तीसरे स्कूल में टैबलेट कंप्यूटरों का अभाव था।

शोधकर्ताओं ने पाया कि दूसरे स्कूल के बच्चे बाकी दोनों स्कूलों के बच्चों की तुलना में बेहतर थे। टैबलेट शेयर करने वाले बच्चों का स्कोर 300 से 900 के स्केल पर बाकी दोनों स्कूलों के बच्चों की तुलना में 30 पॉइंट ज़्यादा था। शोधकर्ताओं ने बताया कि यह प्रगति होमवर्क में दिखी प्रगति के समान ही थी। दूसरे घटक, जैसे जनसांख्यिकी और शुरुआती स्कोर आदि से नतीजों पर कोई असर नहीं पड़ा।

नॉर्थवेस्टर्न यूनिवर्सिटि के प्रमुख शोधकर्ता कर्टनी ब्लैकवेल ने कहा कि ‘‘आईपैड शेयर करने वाले बच्चे उल्लेखनीय रूप से दोनों समूहों से आगे थे। इससे पता चलता है कि तकनीक को आपस मिल जुलकर सीखने से अंतर पड़ता है। हालांकि स्कूल और प्रशासन सभी ग्रेड में जारी व्यवस्था के साथ जा सकते हैं लेकिन वे फिर से विचार कर सकते हैं कि टैबलेट किस तरीके से इस्तेमाल किये जाएं ताकि तकनीक का बेहतर इस्तेमाल हो सके’’।

चूंकि यह अध्ययन सिर्फ एक क्षेत्र के केवल तीन ही कक्षाओं में किया गया है इसलिए इसे और प्रामाणिकता की ज़रूरत है। फिर भी, नीति के लिहाज़ से इसका स्वागत किया जा रहा है, खासकर उन स्कूलों द्वारा जो सीमित बजट में मॉडर्न लर्निंग प्रक्रिया की शुरुआत करने के इच्छुक हैं। ब्लैकवेल कहते हैं ‘‘एक बच्चे के लिए 1 टैबलेट की नीति सभी ग्रेडों में तकनीक के लिहाज़ से कारगर सिद्ध हनीं हो सकती। नीति के लिहाज़ से, तकनीक के बेहतर इस्तेमाल के लिए क्या विकासशील होगा, इस पर दोबारा सोचने की ज़रूरत है’’।

भारत में कई निजी स्कूल कक्षाओं में टैबलेट कंप्यूटर दे रहे हैं और कुछ सरकारी योजनाएं भी छात्रों को टैबलेट कंप्यूटर प्रदान कर रही हैं। इस अध्ययन के बाद तकनीक को कम कीमत में बेहतर नतीजे देने वाला साधन बनाने में मदद मिल सकती है।

यदि आप इस लेख में दी गई सूचना की सराहना करते हैं तो कृप्या फेसबुक पर हमारे पेज को लाइक और शेयर करें, क्योंकि इससे औरों को भी सूचित करने में मदद मिलेगी ।

Leave a comment

Your email address will not be published.