बस बड़े हो चुके बच्चे ही हैं पुरुष


Photo: Shutterstock

Photo: Shutterstock

पुरुष ध्यान दें! यह तो कई शोधों और रिपोर्टों में बताया जा चुका है कि तनाव या वैवाहिक समस्याओं के कारण रक्तचाप बढ़ता है। लेकिन अब, एक अध्ययन में पाया गया है कि अगर आपकी पत्नी को तनाव हो तो आपके रक्तचाप पर नकारात्मक असर पड़ता है क्योंकि पुरुष बड़े हो चुके बच्चे ही होते हैं।

मिशिगन यूनिवर्सिटि के कीरा एस बर्डिट की अगुआई में हुए शोध में मध्य आयु वर्ग और प्रौढ़ महिलाओं व पुरुषों का अध्ययन किया गया जो विवाहित थे या साथ में रहते थे। यह विश्लेषण किया गया कि क्या एक साथी को तनाव होने पर दूसरे के रक्तचाप पर या तनाव बढ़ने संबंधी कोई असर पड़ता है। पहले के शोधों में एक व्यक्ति के तनाव को लेकर अध्ययन हुए थे इसलिए यह शोध अलग था क्योंकि इसमें शोधकर्ताओं ने दोनों के तनाव का और उससे एक-दूसरे पर होने वाले असर का अध्ययन किया।

नतीजे ये मिले कि पत्नी को तनाव होने पर पतियों पर ज़्यादा असर पड़ता है। बर्डिट ने कहा कि ‘‘जैसा कि माना जाता है कि वैवाहिक जीवन में पत्नियां ज़्यादा प्रभावित होती हैं, लेकिन इसके उलट यह पाया गया कि पत्नियों के तनाव के प्रति पति अधिक संवेदनशील निकले। हमने देखा चूंकि पति पत्नियों के सहयोग पर ज़्यादा आश्रित रहते हैं इसलिए पत्नियों को तनाव होने पर उन्हें वह सहारा नहीं मिल पाता’’।

उन पतियों पर यह प्रभाव और ज़्यादा देखा गया जिनके वैवाहिक जीवन में तनाव था और पति-पत्नी दोनों ही रिश्ते को लेकर समस्याएं झेल रहे थे। बर्डिट कहते हैं कि “इन नतीजों को लेकर हम उत्साहित थे क्योंकि एक समस्याग्रस्त रिश्ते में दोनों पक्षों के तनाव के प्रभाव के आधार पर हम विश्लेषण कर रहे थे। एक का मनोविज्ञान केवल उसके ही अनुभवों से नहीं बल्कि उसके साथी के अनुभवों से भी जोड़कर देखा जा रहा था’’।

पीछे जाएं और और फिर से वही पंक्ति पढ़ें कि पति अपनी पत्नी पर ज़्यादा आश्रित होता है। जब पति तनावग्रस्त होते हैं तो पत्नियों पर ज़्यादा असरनहीं होता लेकिन पत्नी का सहारा न मिलने पर पति टूट सकते हैं। पुरुष भीकिस कदर बच्चे होते हैं!

यदि आप इस लेख में दी गई सूचना की सराहना करते हैं तो कृप्या फेसबुक पर हमारे पेज को लाइक और शेयर करें, क्योंकि इससे औरों को भी सूचित करने में मदद मिलेगी ।

Leave a comment

Your email address will not be published.