बरसात के मौसम में कपडों के बारे में अभिभावकों केलिए गाईड


Photo: Gamut Stock Images

Photo: Gamut Stock Images

भारत में बरसात का मौसम मौज मस्ती का समय होता है , क्योंकि बारिश झुलसे हुए खेत-खलिहानों के लिए जीवन प्रदान करती है । परंतु छोटे बच्चों के अभिभावकों के लिए चिंता का विषय होती है , क्योंकि मौसम के बदलने से तेज बुखार होना, नाक बह्ना, संक्रमण फैलना आदि हना आम बात है । ऐसे समय में ब्च्चों को सुरक्षित रखने के लिए बरसात के मौसम में पहनने वाले कपडे पहनाना आवश्यक होता है ।

बरसात : भारत में आमतौर पर बरसात का मौसम जून आधे से लेकर सित्मबर आधे तक रहता है । देश के कुछ हिस्सों में जुलाई और अगस्त में बारिश बहुत तेज होती है । इसके अतिरिक्त भारत के कुछ हिस्सों में अप्रैल और अकटूबर में हल्क-फुल्की बारिश होती है जो कि बहुत ज्यादा तो नही होती परंतु बच्चों की सेहत पर आवश्य असर करती है ।

बरसात के मौसम में बच्चों को सेहतमंद रखने के लिए उन्हें क्या पहनना चाहिए ? बरसात के दिनों में सिर, छाती और पेरों को ढक कर रखें । जो कपडे पानी को सोख लेते हैं और बच्चों को सूखा रखते हैं वही कपडे इस मौसम के लिए बेहतर विकल्प होते हैं ।

ऊपरी पोशाक

यह सुनिश्चित करने के लिए कि अधिकतम बरसाती मौसम में ब्च्चा पूरी तरह सूखा रहे और आरामदायक मह्सूस करे हमें रैक्जीन,प्लास्टिक, और कठोर प्लास्टिक से बने पार्दर्शी कपडे पहनाने चाहिए ।

बरसात में भीगने से बचने के लिए शिफोन एवं नाइलोन पहनना अनुकूल होगा क्योंकि इस प्रकार के कपडे गीले होने पर भी जल्दी सूख जाते हैं ।

चूंकि बरसात के मौसम में कीचड और पानी दोनों अवश्यंभावी होते हें इसलिए हल्के कपडे जैसे सूती , गाबर्डीन और रेशम मिश्रित कपडे पहनना ठीक नही होता क्योंकि आप इनमें लगे जिद्दी दागों से आसानी से छुटकारा पा सकते हैं ।

निमनलिखित से बचना

जींस, डेनिम और दूसरे भारी कपडे क्योंकि उनमें पानी ठहर जाता है और उन्हें सूखने में बहुत देर लगती है क्योंकि धूप न निकलने के कारण कपडे सूख नही पाते ।

बुने हुए और ऊनी कपडे, क्योंकि पानी सोखने लेने के कारण यह सिकुड जाते हैं, और तेज धूप न निकलने के कारण ऐसे कपडे जल्दी सूख नही पाते ।

सिर पर ओढ्ने वाले कपडे

* बरसात में सिर को टोपी, छाते और टोपीदार कोट से ढक कर रखना चाहिए ।

* छोटे बच्चों के लिए नाजार में छाते की शक्ल में कई रगों में हैट और टोपियां मिलती है

और दोनों ही हैंड-फ्री होने के सथ-साथ बारिश से बचाव भी करती हैं ।

शरीर के लिए

बारिश से बचाव के लिए रैनकोट जैसे वजन में हल्के कपडों का इस्तेमाल किया जाना चाहिए ।

शरीर से लगे छोटे बच्चों के लिए कुछ रैनकोट बेल्ट के साथ मिलते हैं जो पूरी तरह सुरक्षित होते हैं विशेषकर जब तेज हवा चलती है ।

आजकल कपडों के ऊपर पहने जाने वाले जैकट एवं कन्धों को ढक कर रखने वाले कपडे भी मिलते हैं जो बच्चों के लिए सुरक्षित होन्मे के साथ-साथ फैशन के अनुरुप भी होते हैं ।

पैरों के लिए

पानी से बचने के लिए टखनों से ऊपर पहने जाने वाले या बरसाती जूतों का इस्तेमाल किया जाना चाहिए जो पैरों को तब भी पूरी तरह सूखा रखते हैं जब उनका पैर गल्ती से दलदल में फंस जाए ।

रबड के सलीपर खरीदें क्योंकि यदि बरसात के कारण वे गंदे हो जाएं या उन पर कीचड लग जाए, तब उन्हें साफ करना आसान होता है ।

बरसात में सैंडिल,चप्पल,बक्कल वाले जूते सभी बच्चों के लिए उपयुक्त होते हैं । इन सभी प्रकार के जूतों में कई तरह के रंग और कार्टून करैक्टर भी मिलते हैं जिन्हें देख बच्चे खुश हो जाते हैं ।

गर्मियों में बच्चों को किस प्रकार के आरामदायक कपडे पहनाए जाएं, यह जानने के लिए कृपया हमारे सुझाव पढें ।

क्या आप हमारी सिफारिश से सहमत नही हैं या आप अपनी और से कोई सुझाव देना चाहते हैं ? क्या आप नीचे दी गई टिप्पणी हमारे साथ शेयर करना चाहते हैं ।

यदि आप इस लेख में दी गई सूचना की सराहना करते हैं तो कृप्या फेसबुक पर हमारे पेज को लाइक और शेयर करें, क्योंकि इससे औरों को भी सूचित करने में मदद मिलेगी ।

Leave a comment

Your email address will not be published.