बिल्लियों में हीट चक्र से संबंधित सभी प्रकार की आवश्यक जानकारी प्राप्त करें


All you need to know about female heat cycle in cats

Photo: Shutterstock

मादा बिल्लियों अथवा गर्भधारण योग्‍य बिल्लियों को समयानुकूल पॉलियेस्‍ट्रॉस होते ही हैं इसका अभिप्राय यह है कि वे प्रत्‍येक सात से दस दिन से लेकर प्रजनन होने तक हीट चक्र से प्रभावित रहती हैं । मादा बिल्लियों में होने वाला हीट चक्र मौसम पर निर्भर करता है । शुरूआत में उनका हीट चक्र जनवरी तथा सितम्‍बर माह के दौरान रहता है ।  यह काल दिन की रोशनी की अवधि, अन्‍य बिल्लियों की उपस्थिति तथा वातावरण के कारण तापमान से भी प्रभावित होता है । घर के अन्‍दर एवं कृत्रिम प्रकाश में रहने वाली बिल्लियां के लिए यह चक्र पूरे वर्ष   बना रहता है  ।

अपेक्षित स्थितियां अनुकूल होने तथा दिन के दौरान 12 घंटे प्रकाश होने पर मादा बिल्‍ली का एस्‍ट्रस (estrus) चक्र प्रारम्‍भ होता है तथा ऐसा होने पर उनका हारमोनल सिस्‍टम अपनी प्रक्रिया प्रारम्‍भ कर देता है। इसके पश्‍चात , प्रत्‍येक सात से दस दिनों में बिल्लियां हीट ग्रस्‍त रहती हैं । ऐसा दिन के प्रकाश की अवधि  कम होने तक चलता है ।

एस्‍ट्रस (estrus)चक्र की स्थितियां निम्‍नानुसार होती हैं :

एनेस्‍ट्रस :(Anestrus) सामान्‍यत: यह शीतकाल में तब होता है जब दिन छोटे होते हैं । इस काल के दौरान मादा बिल्‍ली किसी प्रकार से हीट महसूस नहीं करती है तथा इस अवधि के दौरान बिल्लियों को विपरीत लिंग वाली बिल्लियों के प्रति किसी प्रकार का रूझान भी नहीं होता है ।

प्रोएस्‍ट्रस: (Proestrus)  इसका क्रम प्रारम्‍भ होने पर प्रोएस्‍ट्रस (Proestrus)  की स्थिति एक अथवा दो दिन तक बनी रहती है अथवा कभी कभार यह कुछ घंटों के लिए होती है ।  आपने इस बात पर ध्‍यान दिया होगा कि मादा बिल्लियां इस स्थिति के दौरान कई आवाजें निकालती हैं क्‍योंकि उन्‍हें नर बिल्‍ली की आवश्‍यकता होती है । तथापि, वे नर बिल्लियों को अपने निकट नहीं आने देती हैं । इसके अलावा आपने यह देखा होगा कि वे जमीन पर लोट लगाती हैं अथवा स्‍वयं को वस्‍तुओं अथवा व्‍यक्तियों से रगड़ती हैं । मादा बिल्लियों को प्रोएस्‍ट्रस (Proestrus) की इस अवधि के दौरान मादा कुत्‍तों की भांति रक्‍त स्राव नहीं होता है ।

एस्‍ट्रस: (estrus) यह स्थिति लगभग एक सप्‍ताह तक चलती है तथा इसके दौरान गर्भधारण योग्‍य बिल्‍ली बिलकुल वैसा ही व्‍यवहार करती है जैसा प्रोएस्‍ट्रस (Proestrus) की स्थिति के दौरान करती है । मादा बिल्‍ली बार बार मूत्र त्याग भी करती है तथा अपना सिर और आगे की टांगें जमीन की ओर झुकाते हुए और अपना पिछला हिस्‍सा ऊपर उठाकर  प्रसव जैसी स्थिति का आभास भी देती है । नर बि‍ल्‍ली अथवा बिल्लियां इस स्थिति में उससे समागम करते हैं ।  समागम एक मिनट से कम अर्थात कुछ सैकेंड की अवधि का ही होता है ।  इस प्रकार यह संभावना होती है कि बिल्‍ली के किसी बच्‍चे के पिता एक से अधिक होते हों । इस तथ्‍य को सुपरफिकंडेशन के रूप में जाना जाता है ।

इंटरफाल्लिकुलर (इन्‍टरस्‍ट्रॉस स्थिति) ( Interfollicular (interestrous stage): गर्भ धारण के लिए तैयार बिल्‍ली का यदि समागम नहीं हो पाता है अथवा पिछली स्थिति के अनुसार प्रजनन नहीं हो पाया था तो वह इंटरफाल्लिकुलर अथवा इन्‍टरस्‍ट्रॉस स्थिति (Interfollicular (interestrous stage) में आ जाती है जो लगभग एक सप्‍ताह तक रहती है ।  इस काल के दौरान बिल्‍ली की ओर से पुन:प्रजनन संकेत  नहीं दिए जाते । ऐसी स्थिति में आने पर गर्भ धारण के लिए तैयार बिल्‍ली प्रोएस्‍ट्रस तथा एस्‍ट्रस  के क्रम में फिर से लौट जाती है ।

डॉयस्‍ट्रस: डॉयस्‍ट्रस (Diestrus)की स्थिति 5 से 7 सप्‍ताह की होती है ।  यह स्थिति तब उत्पन्न होती है जब बिल्‍ली का अंडोत्‍सर्ग हुआ हो और उसका समागम भी हुआ हो परन्‍तु वह गर्भवती न हुई हो । ऐसे काल के दौरान गर्भधारण के लिए तैयार बिल्‍ली प्रजनन जैसे संकेत सूचक क्रियाकलाप स्पष्ट  न होते हुए भी गर्भवती जैसी दिखाई दे सकती है । गर्भवती बिल्लियों के गर्भकाल की अवधि लगभग 63 दिन होती है ।

सामान्‍यत: बिल्लियां 6 से 9 माह की आयु में यौवन प्राप्त कर लेती हैं परन्‍तु कुछ बिल्लियों का समागम क्रम 5 माह की आयु से ही प्रारम्‍भ हो जाता है तथा वे  इसी आयु में गर्भवती हो जाती हैं । यदि आप नहीं चाहते कि आपकी बिल्‍ली प्रजनन करे तो गर्भधारण एवं बिल्‍ली में उत्‍पन्‍न होने वाले हीट के लक्षणों से बचने के लिए उसका बांध्‍यकरण करवाया जा सकता है ।

यदि आप इस लेख में दी गई सूचना की सराहना करते हैं तो कृप्या फेसबुक पर हमारे पेज को लाइक और शेयर करें, क्योंकि इससे औरों को भी सूचित करने में मदद मिलेगी ।

Leave a comment

Your email address will not be published.