पिता बनने के कारण भी वजन बढ़ जाता है ।


Small ones cause fathers to get bigger

Photo: Shutterstock

अनुसंधानों से यह पुष्टि हुई है कि अनेकों पिता किशोरावस्था से ही अपना वजन अनावश्‍यक रूप से बढ़ जाने से दु:खी रहते हैं । नार्थवेस्‍टर्न यूनिवर्सिटी के अनुसंधानकर्ताओं ने लगभग 10,000 व्‍यक्तियों का उनकी किशोरावस्‍था से लेकर उनके युवा हो जाने तक उनकाअनुसरण किया तथा यह पाया कि बॉडी मास इंडेक्‍स (BMI) से किए गए मापन के अनुसार  वजन बढ़ने का संबंध पैतृत्‍व से जुड़ा हुआ है । दूसरे अर्थों में उस व्‍यक्ति का बीएमआई परिमाण कम हो सकता है जिसने अपनी आयु के अनुसार बच्‍चों को जन्‍म नहीं दिया है ।

इस अध्‍ययन के प्रमुख लेखक एवं नार्थवेस्‍टर्न यूनिवर्सिटी में बाल रोग एवं चिकित्‍सा समाज विज्ञान के एसोसिएट प्रोफेसर का यह कहना है कि इस अध्‍ययन से प्राप्‍त परिणाम काफी आश्‍चर्यजनक हैं ।

गारफिल्‍ड का यह कहना है कि “हमने पहले भी कुछ ऐसे कार्य किए थे जिससे यह प्रमाणित हुआ था कि पिता बनना वास्‍तव में लोगों के लिए उत्‍साहवर्धक होता है और वे कुछ थोड़ा अधिक जिम्‍मेदार बनने, बेहतर भोजन करने, अल्‍कोहल का सेवन कम करने, यदि वे ध्रुमपान करते हैं तो कम ध्रुमपान करने और एक आदर्श पिता बनने का प्रयास करते हैं” ।

इस अध्‍ययन में पुरूषों पर किया गया बीएमआई परिमाण का आकलन 20 वर्ष की अवधि के चार भिन्‍न अवधिकालों  में किया गया है । इस अध्‍ययन के लिए शामिल किए गए 10,000 पुरूषों में से लगभग तीन तिहाई पिता बन चुके थे  । उनकी किशोरावस्‍था में, उनकी 20वें वर्ष की प्रारम्भिक  आयु में और फिर 30वें वर्ष की प्रारम्भिक आयु में बीएमआई का परिमाण मापा गया था । अनुसंधानकर्ताओं ने यह जानने के लिए जांच की कि क्‍या पिता बनने और बीएमआई का परिमाण स्‍तर बढ़ने में किसी प्रकार का संबंध है अथवा नहीं ।

वे पुरूष जो अपने बच्‍चों के साथ रहे उनका बीएमआई परिमाण इन वर्षों के दौरान 2.6% अधिक बढ़ा तथा वे पुरूष जो पिता तो बने परन्‍तु अपने बच्‍चों के साथ नहीं रह पाए उनका परिमाण 2% बढ़ा । उन पुरूषों का बीएमआई परिमाण आयु के साथ साथ कम होता चला गया जो पिता नहीं बन पाए थे ।

इस नए अनुसंधान से अलग यूनिवर्सिटी ऑफ कैलीफोर्निया, सैन डियागो में वजन प्रबंधन कार्यक्रम के चिकित्‍सा निदेशक एडुआर्डो ग्रुनवाल्‍ड का यह कहना है कि यद्यपि 2.6% की वृद्धि देखने में यह संख्‍या काफी छोटी  प्रतीत होती है परन्‍तु  पुरूष की बढ़ती हुई आयु के साथ यह वजन बढ़ते रहने की स्थिति को देखते हुए महत्‍वपूर्ण हो सकती है ।

ग्रुनवाल्‍डने यह कहा कि ” मैंने ऐसे रोगी देखे हैं जो जब भी पिता बनते हैं तो सबसे पहले तो वे व्‍यायाम करना बंद कर देते हैं । यह अध्‍ययन अत्‍यंत रोचक है तथा इस ओर पहले कभी किसी का ध्‍यान नहीं गया है ” ।

वे पुरूष भी तंदुरूस्‍त बने रह सकते हैं जो पिता बनना चाहते हैं परन्‍तु इसके लिए उन्‍हें नवजात शिशु के लालन पोषण के लिए अपनी योजना में थोड़ा बदलाव करना होगा ।

इसके अलावा, अनेक पुरूष गर्भावस्‍था की अवधि के दौरान भी वजन ग्रहण करते हैं क्‍योंकि इस दौर में पति पत्‍नी के शारीरिक क्रियाकलाप एवं खान पान में बदलाव आ जाता है ।

यह अध्‍ययन अमेरिकन जरनल ऑफ मैन्‍स हैल्‍थ एंड क्रेग गारफिल्‍ड में प्रकाशित किया गया था ।

यदि आप इस लेख में दी गई सूचना की सराहना करते हैं तो कृप्या फेसबुक पर हमारे पेज को लाइक और शेयर करें, क्योंकि इससे औरों को भी सूचित करने में मदद मिलेगी ।
 

Leave a comment

Your email address will not be published.