पपी को नहलाने के 9 सरल उपाय


पपी को नहलाने के 9 सरल उपाय

Photo: Shutterstock

कुछ कुत्तों को नहाना पसंद होता है जबकि कुछ इससे दूर भागते हैं और कीचड़ में लोटते हैं। घर में किसी को भी दुर्गंध वाला वाला कुत्ता पसंद नहीं होता इसलिए आप अपने पपी को नहलाने की आधी-अधूरी कोशिश करते ही हैं। इससे होता यह है कि आधा-अधूरा गीला पपी और ज़्यादा दुर्गंध फैलाता है। अगर आपके पास नया पपी है या पुराना कुत्ता भी है तो उसे आराम से और कारगर तरीके से नहलाने के लिए यहां विशेषज्ञों द्वारा बताये गये कुछ सुझाव दिये जा रहे हैं।

  1. तैयारी करें: पपी को नहलाने के शुरुआती प्रयासों में खुद को मानसिक रूप से तैयार करें और सकारात्मक व उत्साहवर्धक बात करें ताकि आपका पपी भी शांत हो सके। अगर आप परेशान हैं या तनाव में हैं तो आपका कुत्ता यह महसूस कर लेगा आर वह भी परेशान होगा। उसे नहलाने के पहले कुछ प्रयास आदर्श साबित नहीं होंगे, इसके लिए तैयार रहें। पपी को नहलाना आपके लिए भी मज़ेदार हो सकता है।
  2. जगह तय करें: अगर आप पपी को पहली बार नहलाने जा रहे हैं तो उससे पहले उसे जगह के साथ जोड़ने के लिए उसे नहाने की जगह, बाल्टी या नल के पास कभी-कभी ले जाएं और फिर लंबे समय तक उसे वहां रोकें। ताकि वह उस जगह से परिचत हो सके, अभी नहलाएं नहीं। बाथरूम में उसे आने-जाने दें और कुछ समय वहां उसे रुकने दें।
  3. नहाने के समय मस्ती: हो सकता है आपके कुत्ते को नहाना पसंद न हो, ऐसे में उसे यह एहसास दिलाएं कि नहाने के बाद उसे ट्रीट मिलेगी। अगर उसे यह एहसास हो जाएगा कि इसके बाद कोई खेल या भोजन संबंधी कोई ट्रीट मिलेगी तो वह नहाने की प्रक्रिया में ज़्यादा सहयोगी और आरामदायक होगा और भविष्य में भी कम परेशान करेगा।
  4. कब नहलाएं: कुछ कुत्तों को दूसरों की तुलना में कम अंतराल में नहलाना ज़रूरी होता है। यह अवधि उनकी नस्ल और उनकी चमड़ी पर निर्भर करती है। अपने पशु चिकित्सक से इस बारे में पूछें।
  5. पूरी तैयारी: अपने पपी को नहलाने से पहले सभी ज़रूरी चीज़ें साथ में रखें। शैंपू, कंडीशनर, ट्रीट, तौलिया आदि। नहाने की मैट और तौलिया नहाने के स्थान पर बिछा दें ताकि गीले होने पर कुत्ते को फिसलने का डर न रहे और वह बेहतर पकड़ के साथ बैठकर सुरक्षित महसूस करे। पानी बहुत ठंडा या बहुत गर्म न हो। कुत्ते कुनकुने पानी में ज़्यादा आराम महसूस करते हैं।
  6. ब्रश करें: कुत्ते के बालों और वमड़ी पर हल्के से ब्रश करें ताकि अतिरिक्त बाल वगैरह निकल जाएं और आपको उसे शैंपू करने में आसानी हो।
  7. साबुन का प्रयोग: अपने कुत्ते को जितना संभव हो उतना हल्के से शैंपू करें ताकि उसे कोई नुकसान न हो। खयाल रखें कि शैंपू उसकी आंखों, कानों, मुंह और नाक में न जाये। यहां सफाई के लिए एक गीले कपड़े का इस्तेमाल करें। टाइल्स की सतह पर नहलाते वक्त उसके पंजों में साबुन सावधानी से लगाएं ताकि वह फिसले नहीं। पंजों में साबुन लगाकर उसे तुरंत धा दें तो बेहतर है।
  8. अति न करें: अगर आप अपने कुत्ते को ज़्यादा नहलाते हैं तो उसे त्वचा जलन या परत होने का जोखिम होता है। इसलिए सबसे अच्छा यही है कि अपने पशु चिकित्सक से सलाह लें और यह भी पूछें कि उसे किस शैंपू से नहलाया जाये क्योंकि अलग नस्ल की त्वचा पर यह निर्भर करता है और गलत शैंपू से नहलाने के कारण उसकी त्वचा में जलन हो सकती है।
  9. जो कुत्ते नहाना पसंद नहीं करते: ज़रूरत पड़ने पर उन्हें केवल साफ करें। उन्हें साफ करने के लिए दूसरे तरीके अपनाएं जैसे रोज़ ब्रश करें और गीले तौलिये से उनके फर व पंजों को साफ करें। “ड्राय शैंपू” भी उपलब्ध है। इसे इस्तेमाल करने के लिए अपने कुत्ते के शरीर पर लगाएं और ब्रश कर दें। पानी से नहलाना ही ज़रूरी नहीं है।

याद रखें, कुत्ते आदतों को पालने वाले प्राणी हैं, अगर एक बार आप आदत डाल देंगे तो उसके लिए यह आसान भी होगा और वह इसके लिए तैयार भी रहेगा अगर ऐसा करने पर उसे पुरस्कार यह भोजन का कोई विकल्प न हो मिलता है।

यदि आप इस लेख में दी गई सूचना की सराहना करते हैं तो कृप्या फेसबुक पर हमारे पेज को लाइक और शेयर करें, क्योंकि इससे औरों को भी सूचित करने में मदद मिलेगी ।

Leave a comment

Your email address will not be published.